26th November 2021

वनवासियों को अपना मित्र बनायें – कोश्यारी

 

 

एकल श्रीहरि रजत जयंती समापन समारोह ‘कर्टेन रेज़र’

वनवासियों को अपना मित्र बनायें – कोश्यारी

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शहरी जनता से आग्रह किया कि वे ग्रामीण समाज के सुदूर ग्रामों में जाकर ग्रामवासी, वनवासियों को स्नेह देकर उन्हें अपना मित्र बनायें; जिससे समाज आत्मनिर्भर बन सके।

श्री कोश्यारी ने एकल श्रीहरि सत्संग समिति द्वारा विगत 13 नवंबर को मुंबई के गरवारे क्लब में आयोजित रजत जयंती समापन के ‘मंगलाचरण’ (कर्टेन रेज़र) समारोह को संबोधित करते हुए ये बात कही. उन्होंने एकल श्रीहरि द्वारा किये जा रहे कार्यों की भी सराहना की।

इस अवसर पर एकल श्रीहरि के राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्यनारायण काबरा ने बताया कि इस समय भारत में 72 हजार से भी अधिक गावों में संस्कार शिक्षा का कार्य श्रीहरि द्वारा किया जा रहा है और साल 2030  तक पूरे भारत के 4 लाख गावों का लक्ष्य पूरा कर लिया जायेगा। एकल अभियान के महामंत्री माधवेन्द्र सिंह ने एकल श्रीहरि के कार्यों की जानकारी दी।

इससे पूर्व रजत जयंती समारोह की संयोजिका श्रीमती मीना अग्रवाल ने बताया कि 8 और 9 जनवरी 2022 को मुंबई में समापन समारोह का आयोजन किया जायेगा. इसकी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। उन्होंने एकल श्रीहरि के प्रणेता श्री श्याम जी गुप्त का ज़िक्र करते हुए कहा कि 25 वर्ष पूर्व अंडमान निकोबार के वनवासियों से मिलने के बाद उन्होंने वनवासियों के सामाजिक, सांस्कृतिक उत्थान के लिए, ‘एकल श्री हरि’ की परिकल्पना की और कोलकाता के ,श्री साधुराम जी बंसल के साथ अयोध्या में एकल श्रीहरि का पहला केंद्र स्थापित किया। उसके बाद मुंबई में श्रीस्वरूप चंद जी गोयल , की छत्रछाया में एकल श्रीहरि देश भर के वनवासी समाज को शिक्षित, संस्कारी, समरस और व्यसन मुक्त बनाने के लिए कार्य करता आ रहा है। उन्होंने एकल की एक अन्य महत्वकांक्षी ‘गौ ग्राम योजना’  का भी ज़िक्र किया और बताया की योजना के पहले चरण में 12 नवंबर को पश्चिम बंगाल के  नकाशीपाड़ा में ग्रामीणों को गाय दी गयी और अगले चरण में 19 नवम्बर को झारखण्ड में गाय दी जाएंगी। इस तरह एक लाख गोवंश को  गाँव – गाँव तक पहुँचाया जायेंगा। ‘गौ ग्राम योजना’ का मुख्य उद्देश्य है “गाय बिकेगी नहीं, तो कटेगी नहीं”।

एकल श्रीहरि मुंबई के अध्यक्ष विजय केडिया ने अतिथियों का स्वागत किया और मुंबई उपाध्यक्ष श्रीमती मंजू केडिया ने राज्यपाल का संक्षिप्त परिचय दिया ।

इस अवसर पर महामिहम राज्यपाल द्वारा एकल श्रीहरि के विशेष सहयोगियों घनश्याम और रमा पहलाजानी,  सुरेश और मंजू खंडेलिया,  रामावतार और गायत्री मोदी, रामबिलास और अमिता अग्रवाल, वरुण काबरा, महाबीर प्रसाद और रेखा गुप्ता का सम्मान किया गया।

समारोह में एकल ट्रस्ट बोर्ड के अध्यक्ष प्रदीप गोयल, राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल कंदोई, राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष  महेश मित्तल, राष्ट्रीय महामंत्री अनिल मानसिंगका, राष्ट्रीय सह महामंत्री डॉ निर्मला पेड़ीवाल और डॉ साधना मोढ़,  राष्ट्रीय वित्त सचिव विनय सारड़ा, मुंबई महामंत्री गोविन्द सर्राफ और श्रीमती उषा गोयल, मुंबई कोषाध्यक्ष अंजनी कुमार अग्रवाल एकल श्री हरि की ट्रस्टी श्रीमती भगवती मित्तल, मुंबई भाजपा अध्यक्ष और विधायक श्री मंगल प्रभात लोढ़ा, श्रीमती मंजू लोढ़ा, नगर सेवक आकाश राज पुरोहित, प्रसिद्ध उद्योगपति राम प्रकाश बुबना, रमाकांत टिबरेवाला, राधाकिशन दमानी, श्रीयुत नारायण अग्रवाल, चन्द्र प्रकाश सिंघानिया आदि गणमान्य लोग उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि भारत माता की सेवा में समर्पित एकल अभियान श्रीहरि योजना को राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार 2017 से सम्मानित किया गया है।

 

 

error: Content is protected !!